सम्पूर्ण टीकाकरण है हर बच्चे का अधिकार - UNICEF - BENIPUR NEWS

Breaking

Wednesday, 8 March 2017

सम्पूर्ण टीकाकरण है हर बच्चे का अधिकार - UNICEF



आज दरभंगा के किरथपुर प्रखंड में नियमित टीकाकरण के बारे में जन जागरूकता को बढाने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार, यूनिसेफ, रेडियो मिर्ची और कपूर्री ठाकुर ग्रामीण विकास संस्थान के द्वारा टीकू टॉक टॉक कार्यक्रम का आयोजन झगरुआ गांव में किया गया। कार्यक्रम के तहत प्रखंड के कम प्रतिरक्षण वाले गावों में टीकू एक्सप्रेस के माध्यम से लोगों के बीच जागरूकता भी फैलाई गई। 

टीकू टॉक, नियमित टीकाकरण पर आधारित एक एडवोकेसी गतिविधि है। राज्य स्वास्थ्य समिति, यूनिसेफ, रेडियो मिर्ची और कपूर्री ठाकुर ग्रामीण विकास संस्थान के द्वारा आयोजित होने वाले इस पहल का मुख्य उददेश्य लोगों को इस पहल के साथ जोड़ कर परिचर्चा, क्विज और जादू शो के माध्यम से नियमित टीकाकरण के बारे में उनकी जागरूकता को बढ़ाना है। बिहार के 5 जिलों गया, सारण, दरभंगा, अररिया और जमुई के कम टीकाकरण वाले 22 प्रखंडों में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। 

‍ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए किरथपुर के प्रखंड के बीएमसी श्री ब्रजेश चौधरी ने कहा कि इस प्रखंड में कुल 85 टीकाकरण स्थल है जिसमें से 48 अति संवेदनशील क्षेत्र है। पुरे इस प्रखंड का जहाँ टीकाकरण का प्रतिशत 68 है वहीं इस गांव में सिर्फ 52 प्रतिशत टीकाकरण है।उन्होंने लोगों से अपील किया कि आप टीकाकरण केंद्र पर जाके अपने बच्चे को मुफ्त में टीका लगवायें ।यहाँ यातायात कि सुविधा खराब है साथ ही एएनएम की भी भारी कमी है,जिस कारण टीकाकरण प्रभावित होता है। लेकिन अगर लोगों का सहयोग हुआ तो हम आगमी वर्ष में 95 प्रतिशत टीकाकरण के आंकड़े तक पहुँच सकते है।

कार्यक्रम के दौरान एंकर कुसुम दुबे ने कहा कि टीकाकरण को शत प्रतिशत करके ही हम अपने बच्चों को खतरनाक बीमारियों से बचा सकते हैं। टीकाकरण बच्चों के सर्वागिण विकास के लिए सबसे सस्ता और सुलभ तरीका है। उन्होंने एसएनसीयू में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में विस्तार से लोगों को बताया। उन्होंने बच्चों के उन खतरनाक लक्षणों के बारे में भी बताया जिसके बाद बच्चों को तत्काल एसएनसीयू में ले जाना चाहिए। 

टीके के प्रभावों के बारे में झगरुआ के मुखिया श्री मो. आबिद ने बताते हुए कहा कि टीकाकरण के बाद बुखार आना स्‍वभाविक हैं और इससे घबराने की आवश्‍यकता नहीं है। इसके साथ ही टीका दिलवाने के बाद कभी-कभी सूजन भी आ जाता है। सभी टीकों को सही समय पर दिलवाना हमारे बच्चों के लिए बहुत ही जरुरी  हैं। साथ ही लोगों में टीका के लेकर जो भ्रम फैला है उस अफवाह से बहार निकल कर टीका अपने बच्चे को जरूर करवाएं।

कार्यक्रम के दौरान जादूगर ने टीकाकरण और एसएनसीयू पर आधारित जादू के खेल दिखाए। इसके अलावा उन्होनें सभी 9 बीमारियों पोलियों, टीबी, डिप्थीरिया, काली खांसी, टेटनस, खसरा, जेई, हिब और हेपटाइटीस बी के बारे में अलग- अलग जादूई खेलों के माध्यम से लोगों को समझाया। 
कार्यक्रम के साथ विभिन्न गतिविधियों जैसे खेल, क्विज, गाने का आयोजन भी किया गया। 



राष्ट्रीय स्तर पर नाटकों की प्रस्तुति दे चुकी युवा रंगमंच कलाकार  शिवानी झा ने यहाँ टीकाकरण पर एक नाटक प्रस्तुत कर लोगों से टीकाकरण करवाने की अपील की। साथ ही आज महिला दिवस के अवसर पर  लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लड़का और लड़की में कोई भेदभाव नहीं करना चाहिए। उनदोनो के लिए स्वस्थ्य और अन्य सुविधाएं सामान रूप से मिलनी चाहिए ताकि उनका सही ढंग से विकास हो सके। "लड़का लड़की के सामान और दोनों के बिना बराबर अनुपात के एक बेहतर समाज की परिकल्पना नहीं कर सकते।

इस कार्यक्रम के दौरान  बीएमसी यूनिसेफ,मुखिया के साथ ही प्रखंड की एएनएम, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकताएं उपस्थित रही। रेडियो मिर्ची के स्वराज विक्टर, सत्यम कुमार झा, गौतम कुमार, नवीन कुमार समेत लगभग 1000 लोग उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment