बेनीपुर ( रजनिश प्रियदर्शी ) :- बेनीपुर प्रखंड अंतर्गत नवादा भगवती स्थान में  रविवार  को मिथिलात्मक आध्यात्म मंच के द्वारा संगोष्ठी का आयोजन किया गया  संगोष्ठी की अध्यक्षता द्कासिसंविवि के पूर्व कुलपति देवनारायण झा ने किया । सभा को सम्बोधित करते हुए डॉ सुरेन्द्र मोहन झा ने कहा की मिथिलांचल का संस्कार दूषित होने के कारण मिथिला की संस्कृति नष्ट होती जा रही है । जिसका मूल कारण पश्चमी सभ्यता को अपनाना है । अन्य प्रान्तों के तुलना में मिथिलांचल अधिक प्रभावित और प्रदूषित हो रहा है । लोग कोजगरा म्धुस्रावनी को त्रिस्कृत कर हनीमून मनाना आवश्यक समझने लगे हैं । मनुष्य में मानवता का घोर आभाव हो गया है । यही कारण है की लोगों में उठने बैठने, बात-चित का तौर-तरीका नहीं रहा । पूर्व कुलपति देवनारायण झा ने आपना बात रखते हुए कहा की भाषा को बचाने से संस्कार और पर्यावरण बचेगा । उन्होंने मानवता, पर्यावरण और संस्कृति को बचाने के लिए मंच से संकल्प लेने का आवाहन किया । संगोष्टि में और भी गणमान्य लोग उपस्थित थे । प्रखंड प्रमुख मनोज मिश्र, एम्आरएम् कॉलेज के प्राचार्य डॉ विद्यानंद झा, डॉ प्रभाकर पाठक, विश्वनाथ झा, पंडित किरणजी, सुरेन्द्र झा, विष्णुदेव पासवान, डॉ ग्रिन्द्रमोहन झा सहित कई विद्वानों ने अपने-अपने बात रखें एवं मिथिलात्मक आध्यात्म मंच को मजबूत बनाकर मिथिला की संस्कृति को बचाने का संकल्प किया । अंत में संयोजक रामानन्द झा ने धन्यवाद् ज्ञापन कर सभा का समापन किया 


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here



Previous Post Next Post