राजनिश प्रियदर्शी- पोहद्दी, महिनाम, कटवासा, सजनपुरा के मध्य कमला तट पर मनोरम प्राकृतिक छटाओं के बिच अवस्थित है एक शिव मंदिर जो सिद्धेश्वर नाथ ( भुतनाथ ) के नाम से प्रसिद्ध है । यहाँ के लोगों का मानना है की जिस जगह इस मंदिर की स्थापना हुई.. वहां पहले शमशान घाट था इसीलिए बाबा सिद्धेश्वर नाथ ( भूतनाथ ) के नाम से प्रसिद्ध हैं 


स्थानीय लोगों की माने तो लगभग 300 वर्ष पुराना यह ऐतिहासिक मंदिर जोगियारा-पतौड़ के जमींदार लालता बाबू के खानदान की एक विधवा स्त्री के द्वारा बनाया गया था । और रखरखाव के लिए 17 बीघा जमीन दान में दी थी । 

मंदिर की स्थापना के बाद इसका देखरेख सीताराम दास बाबा करते थे । स्थानीय लोगों का कहना है कि बाबा भूतनाथ की पूजा झिंगुर पंडा के वंशज करते आ रहे हैं ।  


लोगों की मान्यतायें हैं की यहाँ आने वाले भक्त सच्चे मन से जो भी मान्यता लेकर आता है । बाबा भूतनाथ सबकी सुनते हैं । यहाँ पुरे साल दूर दूर से भक्त आते रहते हैं। खास कर प्रत्येक रविवार तो आस-पास के सभी गाँव के स्त्री-पुरुष बूढ़े-बच्चे ...सभी कमला नदी में स्नान कर भोले नाथ को जल अर्पित करते हैं और इस स्थान के प्रकृतिक मनोरम छटा का आनंद लेते हैं ।

माघी पूर्णिमा, कार्तिक पूर्णिमा, शिवरात्री तथा सावन में बाबा भूतनाथ के प्रांगन में लाखों के संख्या में भक्त भोलेनाथ के दर्शन को यहाँ पधारते हैं । पूरा प्रांगण भक्ति मय माहौल से मनो झूम रहा होता है । सुबह से शाम तक लोग मेले का आनंद लेते हैं । मंदिर व्यस्थापक एवं स्थानीय प्रशासन मिल कर इस मौके पर व्यवस्था बना कर रखते हैं । 

स्थानीय लोगों से यह सुचना प्राप्त हुई है की इस मंदिर को पर्यटक स्थल के रूप में घोषित करने के लिए धार्मिक न्यास बोर्ड के अध्यक्ष किशोर कुणाल द्वारा चयन कर लिया गया है । परन्तु सरकार का निर्णय अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है ।

बाबा भूतनाथ प्रांगन के कुछ तश्वीर .....












बाबा सिधेश्वर नाथ ( भूतनाथ ) मंदिर के विषय में किसी भी प्रकार की जानकारी व तश्वीर अगर आप www.benipurnews.com से शेयर करना चाहते हैं .....



आईये देखते हैं एक ख़ास रिपोर्ट बाबा सिधेश्वर नाथ ( भूतनाथ ) से संबंधित ..... बाबा के प्रांगन के विडिओ



आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here



Previous Post Next Post